Kostenlose Uhr fur die Seite website clocks

मंगलवार

जनकवि बाबा नागार्जुन के जन्मदिवस पर




एक छोटी-सी, साहित्यिक यात्रा...

जनकवि बाबा नागार्जुन के जन्मदिवस पर दरभंगा से मिले आमंत्रण के क्रम में पटना से कवि शहंशाह आलम के साथ मुजफ्फरपुर पहुँचा, वहां प्रगतिशील लेखक संघ द्वारा कवयित्री पूनम सिंह के आवास पर हमलोगों के सम्मान में काव्य-संध्या का आयोजन रखा गया जिसकी अध्यक्षता वरिष्ठ आलोचक डा. रेवती रमण ने की, आयोजन की चर्चा स्थानीय समाचार-पत्रों में की गयी-

हिन्दुस्तान, दैनिक ७ जून २००९ मुजफ्फरपुर संस्करण

दूसरे दिन दरभंगा के ऎतिहासिक राज मैदान में, जहाँ पुस्तक मेले का भी आयोजन था, अपराह्न ३ बजे बाबा नागार्जुन को समर्पित संगोष्ठी एवं कविगोष्ठी का आयोजन रखा गया मुख्य वक्ताः डा.रामाकान्त मिश्र (दरभंगा) एवं डा. अरुण कुमार (राँची) ने बाबा नागार्जुन के साहित्यिक सफ़र पर मह्त्वपूर्ण व्याख्यान दिये फ़िर कविगोष्ठी में आमंत्रित कवियों- शहंशाह आलम(पटना), पूनम सिंह, रश्मि रेखा, रमेश ॠतम्भर, पुष्पागुप्त (मुजफ्फरपुर) अरविन्द श्रीवास्तव(मधेपुरा) अरुण नारायण(पटना) ने काव्य-पाठ किया. तीन घंटे तक चले आयोजन का समापन शोभाकान्तजी ने धन्यवाद ज्ञापन से किया ।
प्रस्तुति -अरविन्द श्रीवास्तव, मधेपुरा

4 टिप्‍पणियां:

Abhishek Mishra ने कहा…

Baba Nagarjun ka Janmdivas itni khamoshi se gujar gaya pata bhi nahin chala. Unhe mera bhi naman.

डा राजीव कुमार ने कहा…

achhi jaankari...badhai

aditya ने कहा…

aapki sahityik yatra padhkar kafi jaankari mili,achha laga

Harkirat Haqeer ने कहा…

नागार्जुन जी के जनम दिन पर काव्य पाठ के लिए आपको हार्दिक बधाई .......!

Related Posts with Thumbnails